UP Yuva Hub Yojana 2021 – Yuva Udyamita Vikas Abhiyan | उत्तर प्रदेश युवा हब योजना

UP Yuva Hub Yojana 2021 - Yuva Udyamita Vikas Abhiyan launched for employment to youths, उत्तर प्रदेश विधानसभा बजट में सीएम योगी आदित्यनाथ ने करी युवा हब योजना (रोजगार के लिए), CMAPS, कौशल सतरंग स्कीम, तलाकशुदा महिला पेंशन स्कीम, मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना योजना की शुरुआत
Updated: By: 7 Comments - Leave a Comment

Uttar Pradesh govt. has presented its annual UP Budget which was focused on reducing unemployment rate in the state. For this, the state govt. has launched 3 new youth centric schemes namely Yuva Udyamita Vikas Abhiyan (YUVA Hub), Kaushal Satrang Scheme and Chief Minister Apprenticeship Promotion Scheme (CMAPS). These schemes would result in employment for youths as govt. will now provide training as well as placement to unemployed youths.

All the job less candidates who are seeking employment can now avail benefits of UP YUVA Hub Yojana and CMAPS. In the Yuva Hub Scheme, govt. will set up Yuva Hubs in each districts of the state to make youths self dependent. The jobless youths would be able to get suitable jobs as per their qualification. UP Kuashal Satrang Yojana 2021 is a skill development scheme to provide special training to 2.37 Lakh people.

In CMAPS scheme, the state govt. will provide training and internship to develop industry related skills for youths. The main purpose is to reduce the number of unemployed candidates in the state. The announcement regarding UP Yuva Hub Yojana was made in UP Budget 2020-2021 presented in the state assembly on 18 February 2020.

Uttar Pradesh YUVA Hub Yojana 2021 – Yuva Udyamita Vikas Abhiyan

Yuva Udyamita Vikas Abhiyan or Yuva Hub Scheme, Kaushal Satrang Yojana and CM Apprentice Promotion Scheme will promote and benefit youths and make them self dependent. UP Yuva Hub Yojana will provide employment to lakhs of trained youths in the state. One Yuva Hub would be setup in each district of the state. An amount of Rs. 50 crore is proposed to setup YUVA Hub in every district and target has been fixed to train 2 lakh youths in various training programmes of UP Skill Development Mission.

UP state govt. has set a provision of Rs. 100 crore for CM Apprenticeship Promotion Scheme (CMAPS). This UP Govt. Internship Scheme will impart on-job training to youths of state. All the unemployed candidates will get this training in MSME units and govt. will link them with employment of definite period. In this scheme, jobless people will not only get training but will also get Rs. 2500 per month as stipend. 

Out of the total amount of stipend, central govt. will bear Rs. 1500, state govt. will bear Rs. 1,000 and the remaining amount is to be borne by the concerned industry.

यूपी युवा हब योजना – युवा उद्यमिता विकास अभियान in Hindi

उत्तर प्रदेश सरकार ने 18 फरवरी 2020 को यूपी बजट 2020-2021 विधानसभा में पेश किया। इस बजट में कुछ नई योजनाएँ जैसे की युवा हब योजना, तलाकशुदा महिला पेंशन के बारे में घोषणा करी गई है। युवाओं को रोजगार के अवसर प्रदान कराना इस सरकारी योजना का मुख्य उद्देश्य है. युवाओं के लिए बजट में एक अन्य स्कीम को भी जगह दी गई है मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना जिसके तहत ट्रेनिंग करने वाले प्रत्येक युवा को 2,500 रुपए प्रतिमाह मिलेंगे। युवा हब का एक उद्देश्य युवाओं को प्रशिक्षण के बाद नौकरी प्राप्त करने में सक्षम बनाएगा।

Uttar Pradesh Government Schemes 2021उत्तर प्रदेश सरकारी योजना हिन्दीPopular Schemes in Uttar Pradesh:UP Ration Card ListKanya Sumangala YojanaYogi Free Laptop Distribution Scheme

एक महिला के लिए विधवा होने के बाद किसी भी तरह की आय का साधन नहीं होता है जिसकी पूर्ति के लिए इस बजट में अलग से ऐसी महिलाओं के लिए सीएम तलाकशुदा महिला पेंशन स्कीम की भी घोषणा करी गई है। जिसमें उन्हे हर माह 500 रुपए सहायता राशि दी जाएगी। इसके साथ निराश्रित महिला पेंशन योजना जो पहले से प्रदेश में चल रही है जारी रहेगी।

उत्तर प्रदेश विधानसभा में पास हुए बजट में सीएम योगी आदित्यनाथ जी ने किसानों के लिए भी मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना योजना के बारे में बताया जिसको राज्य में लॉन्च किया जाएगा। उत्तर प्रदेश बजट 2020-2021 में घोषित यूपी युवा हब योजना और अन्य सरकारी योजनाओं की सूची इस प्रकार है:-

  • गांवों में जल जीवन मिशन को 3000 करोड़
  • दिव्यांग पेंशन योजना के लिए 621 करोड़
  • मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना कल्याण बीमा को 500 करोड़
  • तलाकशुदा महिला पेंशन स्कीम – तलाकशुदा महिलाओं के लिए 500 रुपये प्रति महीने पेंशन
  • निराश्रित महिलाओं को 500 रुपये प्रति महीने पेंशन
  • ग्रामीण जलापूर्ति कार्यक्रमों के लिए 3000 करोड़
  • मुख्यमंत्री प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना – युवाओं को 2500 रुपये हर महीने
  • बुंदेलखंड विंध्य के गुणवत्ता प्रभावित गांवों में पाइप पेयजल योजना के लिए 3300 करोड़
  • युवा हब योजना – प्रदेश के हर जिले में युवा हब बनाया जाएगा। जहां उन्हें कौशल विकास की ट्रेनिंग दी जाएगी।
  • पीडब्लूडी पूर्वांचल निधि में 300 करोड़
  • बुंदेलखंड निधि में 210 करोड़
  • दिल्ली से मेरठ रीजनल रैपिड ट्रांजिट सिस्टम के लिए 900 करोड़ रुपये
  • मेडिकल कॉलेज आजमगढ़ के लिए 96 करोड़
  • गोरखपुर और अन्य शहरों की मेट्रो के लिए 200 करोड़ रुपये
  • लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान लखनऊ के लिए 477 करोड़
  • मनरेगा योजना के लिए 4800 करोड़
  • पीएम आवास योजना के लिए 6240 करोड़
  • गन्ना किसानों के लिए गन्ना की कीमत 325 रुपये प्रति क्विंट
  • राष्ट्रीय पोषण अभियान के लिए 4000 करोड़ रुपये
  • काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर के लिए 200 करोड़
  • कानपुर मेट्रो रेल परियोजना के लिए 358 करोड़ रुपये
  • आगरा मेट्रो रेल परियोजना के लिए 286 करोड़ रुपये
  • लखनऊ में राष्ट्रीय प्रेरणा स्थल की स्थापना के लिए 50 करोड़
  • राज्य नीति आयोग का गठन किया जायेगा
  • सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के लिए 35 करोड़ रुपये
  • नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के लिए 81 करोड़ रुपये
  • अयोध्या में एयरपोर्ट के लिए 500 करोड़ रुपये।
  • पुलिस को आधुनिक बनाने के लिए 122 करोड़
  • स्वच्छ भारत मिशन के तहत गांव के लिए 5791 करोड़
  • युवाओं के रोजगार सृजन और प्लेसमेंट हब के लिए 1200 करोड़
  • कन्या सुमंगला योजना को 1200 करोड़
  • गंगा एक्सप्रेस वे के लिए 2000 करोड़
  • अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति में शार्ट टॉपर छात्राओं को लैपटॉप
  • डिप्लोमा सेक्टर में प्रवेश परीक्षाओं में चुने जाने वाले 300 छात्र-छात्राओं को लैपटॉप
  • केजीएमयू लखनऊ को 919 करोड़ रुपये
  • अटल आवासीय विद्यालय के लिए 270 करोड़ रुपये
  • एसजीपीजीआई के लिए 820 करोड़ रुपये
  • पुलिस बल आधुनिकरण योजना के लिए 122 करोड़
  • विधि विज्ञान प्रयोगशालाओं के निर्माण के लिए 60 करोड़
  • ग्रामीण मार्गों के निर्माण और चौड़ीकरण के लिए 2305 करोड़
  • राज्य सड़क निधि के लिए 1 हजार करोड़ रुपये
  • पुलिस फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी की स्थापना के लिए 20 करोड़
  • अयोध्या में पर्यटक सुविधाओं के लिए 85 करोड़
  • तुलसी स्मारक भवन के लिए 10 करोड़ की व्यवस्था
  • वाराणसी में संस्कृति केंद्र के लिए 180 करोड़ की व्यवस्था
  • पर्यटन इकाई के प्रोत्साहन के लिए 50 करोड़ की व्यवस्था
  • गोरखपुर के रामगढ़ ताल में वाटर स्पोर्ट्स के लिए 25 करोड़

उत्तर प्रदेश विधानसभा बजट में सीएम योगी आदित्यनाथ ने करी युवा हब योजना जिसका मकसद रोजगार उपलब्ध कराना है, इसके अलावा सीएम युवा प्रशिक्षु प्रोत्साहन योजना जिसमें मुफ्त प्रशिक्षण दिया जाएगा जिससे युवा खुद से ही नौकरी प्राप्त कर सके।

तलाकशुदा महिला पेंशन स्कीम जो निराश्रित महिला मासिक पेंशन के साथ परस्पर चलेगी दोनों ही योजनाओं में 500 रूपये महिना सहायता राशि दी जाएगी और किसानों के लिए मुख्यमंत्री किसान दुर्घटना योजना की शुरुआत। ज्यादा जानकारी के लिए आप upcmo.up.nic.in पोर्टल पर जा सकते हैं या नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

7 thoughts on “UP Yuva Hub Yojana 2021 – Yuva Udyamita Vikas Abhiyan | उत्तर प्रदेश युवा हब योजना”

Leave a Comment

CLOSESHARE ON:
×