उत्तर प्रदेश विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2019 – पारंपरिक कारीगरों के लिए फ्री प्रशिक्षण / ट्रेनिंग

Views: 2812 | Dated: November 15, 2019 | Updated On: November 15, 2019 | By: Karan Chhabra |
उत्तर प्रदेश विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2019 – पारंपरिक कारीगरों के लिए फ्री प्रशिक्षण / ट्रेनिंग

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के सभी परम्परागत मजदूरों के विकास और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना को शुरू करने का फैसला किया है। विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत पारंपरिक कारीगरों व दस्तकारों को अपने हुनर को और ज्यादा निखारने के लिए 6 दिन की फ्री ट्रेनिंग दी जाएगी। जिसका पूरा खर्च राज्य सरकार द्वारा उठाया जाएगा। इसके साथ ही स्थानीय दस्तकारों तथा पारंपरिक कारीगरों को छोटे उद्योग स्थापित करने के लिए 10 हजार से लेकर 10 लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता भी उपलब्ध कराई जाएगी।

इस सरकारी योजना के अंतर्गत राज्य के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के बढ़ई, दर्जी, टोकरी बुनने वाले, नाई, सुनार, लोहार, कुम्हार, हलवाई, मोची जैसे पारंपरिक कारोबारियों तथा हस्तशिल्प की कला को प्रोत्साहित करने और आगे बढ़ाने के लिए राज्य सरकार ने इस योजना को शुरू करने का निर्णय लिया है। यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2019 के तहत उद्योग लगाने के लिए आवेदन करने वाले कारीगरों का साक्षात्कार 20 नवंबर को होना है।

विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के तहत प्रति वर्ष 15 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा। योगी सरकार का कहना है की वे इस योजना को सभी कारीगरों तक पहुंचाने के लिए पूरे प्रयास करेंगे ताकि सभी पारंपरिक कारीगर इस योजना का भरपूर लाभ ले और स्वरोजगार को बढ़ावा मिले।

यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2019 – लाभ व विशेषताएँ

विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना आने वाले समय में बहुत से लोगों को फ़ायदा पहुंचाएगी, इस योजना में फ्री ट्रेनिंग कैसे दी जाएगी इसकी पूरी जानकारी नीचे दी गई है:

  • उप्र विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अंतर्गत श्रम मजदूरों को ट्रेनिंग तहसील अथवा जिला मुख्यालय पर लघु या मध्यम उद्यम विभाग द्वारा दी जायेगी।
  • विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अंतर्गत सभी योग्य कारीगरों को 6 दिन तक फ्री में ट्रेनिंग दी जाएगी ताकि उन्हें रोजगार प्राप्त करने में आसानी हो सकें।
  • यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सभी प्रकार की ट्रेनिंग का पूरा खर्च राज्य सरकार द्वारा उठाया जाएगा।
  • इस योजना में ट्रेनिंग के दौरान, कारीगरों के रहने और खाने-पीने का खर्च भी सरकार द्वारा दिया जाएगा।
  • योगी सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के अंतर्गत ट्रेनिंग के समय अर्धकुशल मजदूरी दर के समान कारीगरों को वित्तीय सहायता भी प्रदान कराई जायेगी।
  • सभी योग्य कारीगरों को ट्रेनिंग पूरी होने पर उनकी कौशल तथा ट्रेड के अनुसार उन्नत किस्म की टूल किट भी उपलब्ध कराई जायेगी।
  • इस योजना के लिए आवेदन आनलाइन लिए जाएंगे जिसकी व्यवस्था आयुक्त एवं निदेशक उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन द्वारा कराई जाएगी।

यूपी विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना 2019 जरूरी दस्तावेज

योजना के तहत लाभ लेने और इंटरव्यू में बैठने के लिए आवेदकों के पास निम्न्लिखित दस्तावेज होने जरूरी हैं:

  • आधार कार्ड
  • जाति प्रमाणपत्र
  • बैंक पासबुक की कॉपी
  • निवास, रिहायसी प्रमाण-पत्र

किसी भी अन्य योजना के बारे में जानने या फिर पूछने के लिए आप नीचे कमेंट कर सकते है, इन योजनाओं के बारे में अधिक से अधिक लोगों को बताएं ताकि लोग ऐसी कल्याणकारी सरकारी / केंद्र सरकार की योजनाओं का ज्यादा से ज्यादा लाभ ले सकें।

SAVE AS PDF
Related Content