उत्तर प्रदेश विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना – पारंपरिक कारीगरों के लिए फ्री प्रशिक्षण / ट्रेनिंग

Dated: December 29, 2018 | Updated On: April 11, 2019 | By: Karan Chhabra | |
Vishwakarma Shram Yojana Uttar Pradesh

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य के सभी परम्परागत मजदूरों के विकास और स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना को शुरू करने का फैसला किया है। इस योजना के तहत पारंपरिक कारीगरों व दस्तकारों को अपने हुनर को और ज्यादा निखारने के लिए 6 दिन की फ्री ट्रेनिंग दी जाएगी जिससे की सभी बेरोजगार श्रमिकों को रोजगार मिल सकें।

इस सरकारी योजना के अंतर्गत राज्य के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के बढ़ई, दर्जी, टोकरी बुनने वाले, नाई, सुनार, लोहार, कुम्हार, हलवाई, मोची जैसे पारंपरिक कारोबारियों तथा हस्तशिल्प की कला को प्रोत्साहित करने और आगे बढ़ाने के लिए राज्य सरकार ने इस योजना को शुरू करने का निर्णय लिया है। इस योजना के तहत प्रति वर्ष 15 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा।

उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है की इस योजना को सभी कारीगरों तक पहुंचाने के लिए पूरे प्रयास करेंगे ताकि सभी पारंपरिक कारीगर इस योजना का भरपूर लाभ ले और स्वरोजगार को बढ़ावा दे।

उत्तर प्रदेश विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना – इम्प्लीमेंटेशन / बेनेफ़िट

विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना आने वाले समय में बहुत से लोगों को फ़ायदा पहुंचाएगी, इस योजना में फ्री ट्रेनिंग कैसे दी जाएगी इसकी पूरी जानकारी नीचे दी गयी है:

  • इस योजना के अंतर्गत श्रम मजदूरों को ट्रेनिंग तहसील अथवा जिला मुख्यालय पर लघु या मध्यम उद्यम विभाग द्वारा दी जायेगी।
  • उत्तर प्रदेश विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना के अंतर्गत सभी योग्य कारीगरों को 6 दिन तक फ्री में ट्रेनिंग दी जाएगी ताकि उन्हें रोजगार प्राप्त करने में आसानी हो सकें।
  • इस योजना के अंतर्गत दी जाने वाली सभी प्रकार की ट्रेनिंग का पूरा खर्च राज्य सरकार द्वारा उठाया जाएगा।
  • इस योजना में ट्रेनिंग के दौरान, कारीगरों के रहने और खाने-पीने का खर्च भी सरकार द्वारा दिया जाएगा।
  • उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना के अंतर्गत ट्रेनिंग के समय अर्धकुशल मजदूरी दर के समान कारीगरों को वित्तीय सहायता भी प्रदान कराई जायेगी।
  • सभी योग्य कारीगरों को ट्रेनिंग पूरी होने पर उनकी कौशल तथा ट्रेड के अनुसार उन्नत किस्म की टूल किट भी उपलब्ध कराई जायेगी।
  • इस योजना के लिए आवेदन आनलाइन लिए जाएंगे जिसकी व्यवस्था आयुक्त एवं निदेशक उद्योग एवं उद्यम प्रोत्साहन द्वारा कराई जाएगी।

किसी भी अन्य योजना के बारे में जानने या फिर पूछने के लिए आप नीचे कमेंट कर सकते है, इन योजनाओं के बारे में अधिक से अधिक लोगों को बताएं ताकि लोग ऐसी कल्याणकारी सरकारी / केंद्र सरकार की योजनाओं का ज्यादा से ज्यादा लाभ ले सकें।

Related Content