उत्तर प्रदेश इंटर्नशिप योजना 2020 – सभी 10वीं, 12वीं व ग्रेजुएट छात्रों को 2,500 रूपये महिना

Read in English
Views: 1431 | Dated: February 12, 2020 | Updated On: February 12, 2020 | By: Karan Chhabra |
उत्तर प्रदेश इंटर्नशिप योजना 2020 – सभी 10वीं, 12वीं व ग्रेजुएट छात्रों को 2,500 रूपये महिना

उत्तर प्रदेश सरकार राज्य के सभी 10वीं, 12वीं व स्नातक कर रहे या कर चुके बच्चों के लिए यूपी इंटर्नशिप योजना 2020 लेकर आ रही है। इस सरकारी योजना का एलान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को एक कार्यक्रम में प्रदेश के युवाओं और लोगों को संबोधित करते समय करा। उत्तर प्रदेश इंटर्नशिप स्कीम के माध्यम से छात्रों को जो स्कूल, कॉलेजों में पढ़ रहे हैं वे अब आसानी से नौकरी पा सकेंगे। स्कूलों और कॉलेजों में पढ़ने वाले स्टूडेंट्स के लिए विशेष इंटर्नशिप स्कीम उन्हे आगामी भविष्य में रोजगार तो उपलब्ध कराएगी साथ में ट्रेनिंग के दौरान 2,500 रूपये भी लेने के लिए पात्र बनाएगी। एक तरह से यह स्कीम मुफ्त प्रशिक्षण योजना की तरह काम करेगी।

मुख्यमंत्री इंटर्नशिप योजना 2020 के द्वारा स्कीम में दिये जाने वाले प्रशिक्षण को 2 चरणों में बांटा जाएगा। पहले में 6 महिनें का ट्रेनिंग कोर्स कराया जाएगा और दूसरे में 1 साल की ट्रेनिंग दी जाएगी। सीएम योगी के द्वारा शुरू की गई यूपी की इस मुफ्त प्रशिक्षण योजना से राज्य में बढ़ रही बेरोजगारी की समस्या से निपटने में सहायता मिलेगी और आगामी भविष्य में छात्र खुद से ही नौकरी प्राप्त कर लेंगे।

इसके अलावा इस योजना से छात्रों व छात्राओं के कौशल में भी विकास होगा और उन्हे रोजगार प्राप्त करने में कौनसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है इसके बारे में पता लगेगा।

यूपी मुख्यमंत्री इंटर्नशिप स्कीम 2020 – लाभ व उद्देश्य

फ्री ट्रेनिंग स्कीम की कुछ मुख्य विशेषताएँ व इसके लाभ आप नीचे देख सकते हैं:

  • पूरे राज्य से लगभग 5,00,000 लाभार्थियों को स्कीम के तहत प्रशिक्षण दिया जाएगा।
  • मुख्यमंत्री इंटर्नशिप योजना 2020 में फ्री ट्रेनिंग के साथ 2,500 रूपये महिनें की प्रोत्साहन राशि भी दी जाएगी। जिसमें 1,500 रूपये केंद्र सरकार और 1,000 रूपये राज्य सरकार वहन करेगी।
  • योजना के तहत 10वीं, 12वीं व स्नातक कर चुके छात्र या जो अभी भी कर रहे हैं वही पात्र होंगे।
  • योजना का उद्देश्य भविष्य में बेरोजगारी की समस्या से निपटना है।
  • कोर्स की अवधि 6 महिनें और 1 साल है।

गोरखपुर में श्रम विभाग की ओर से आयोजित एक रोजगार मेले में लोगों को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि योजना के तहत छात्रों को तमाम तकनीकी संस्थानों और कंपनियों से जोड़ा जाएगा। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि अब से पुलिस भर्ती में 20 फीसदी लड़कियों का कोटा भी होगा और साथ ही साथ यह भी प्रयास किया जा रहा है कि यूपी के प्रत्येक तहसील पर एक आईटीआई और कौशल विकास का सेंटर खोला जाए। योगी ने कहा कि इस योजना के तहत इंटर्नशिप करने वाले लोगों को नौकरी पाने की दिशा में सहायता दी जाएगी। इसके लिए सरकार की तरफ से एक विशेष एचआर सेल का गठन भी किया जाएगा।

इसके अलावा योजना के लिए आवेदन ऑनलाइन लिए जाएंगे या ऑफलाइन यह राज्य सरकार द्वारा नहीं बताया गया है जिसकी जानकारी मिलते ही हम अपनी वेबसाइट पर इसे अपडेट कर देंगे। योगी सरकार की अन्य योजनाओं को देखने या केंद्र की स्कीम की जानकारी के लिए आप हमसे जुड़े रह सकते हैं।

SAVE AS PDF
Related Content