श्रेयस योजना 2019 (SHREYAS) – छात्रों को नौकरी देने के लिए फ्री स्किल डेवलपमेंट ट्रेनिंग स्कीम

Dated: March 1, 2019 | Updated On: April 13, 2019 | By: Karan Chhabra | | By | Beneficiaries: |
श्रेयस,SHREYAS योजना फ्री स्किल ट्रेनिंग स्कीम

केंद्र सरकार ने युवाओं के कौशल विकास और अपरेंटिसशिप में उच्च शिक्षा के लिए श्रेयस योजना (SHREYAS) लॉन्च कर दी है। श्रेयस योजना के तहत, सरकार युवाओं को उद्योगों से जुड़ी हुई कौशल विकास और अपरेंटिसशिप के अवसर प्रदान करेगी और उन्हें रोजगार प्राप्त करने और देश की प्रगति में योगदान देने में सक्षम करेगी। यह अवसर राष्ट्रीय अप्रेंटिसशिप प्रोमोशनल स्कीम (National Apprenticeship Promotional Scheme – NAPS) के माध्यम से अप्रैल 2019 में निकलने वाले सभी सामान्य स्नातकों पर लागू होगी।

Scheme for Higher Education Youth in Apprenticeship and Skills (SHREYAS) योजना का मुख्य उद्देश्य भारतीय युवाओं को वज़ीफ़ा देने के साथ-साथ रोजगार से जुड़े अवसरों को बढ़ाना है। जिन छात्रों के पास डिग्री है उन्हे और अधिक कुशल, सक्षम, उद्यमी बनाना ही इसका मुख्य लक्ष्य है।

SHREYAS Scheme कार्यक्रम मुख्य रूप से डिग्री कर रहे छात्रों के लिए है जिनमे से मुख्य रूप से गैर-तकनीकी क्षेत्रों में पढ़ रहे छात्रों को रोजगार से जुड़ी सभी बाते बताना और उन्हे उद्यमी बनाने में सहयोग करना है।

श्रेयस योजना 2019 (SHREYAS Scheme) – मुख्य उद्देश्य

  • उच्च शिक्षा प्रणाली की सीखने की प्रक्रिया में रोजगार से जुड़ी बातों को जोड़ कर छात्रों की रोजगार क्षमता में सुधार करना।
  • स्थायी आधार पर शिक्षा और उद्योग / सेवा क्षेत्रों के बीच संबंध बनाना, जिससे विद्यार्थियों को जॉब पाने में आसानी हो।
  • छात्रों को कौशल प्रदान करने के साथ-साथ वजीफा (Stipend) देना, जिससे वे कौशल विकास के साथ-साथ पैसे भी कमा सके।
  • उद्योग और व्यापार के लिए अच्छी गुणवत्ता वाले वर्कर उपलब्ध करने में सहायता करना।
  • केंद्र सरकार के रोजगार सृजन कार्यक्रमों के साथ विद्यार्थियों को जोड़ना।

SHREYAS Scheme कार्यक्रम को मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD), श्रम और रोजगार मंत्रालय, कौशल विकास और उद्यमिता मंत्रालय ने मिल कर शुरू किया है। यह राष्ट्रीय अप्रेंटिसशिप प्रोमोशनल स्कीम (National Apprenticeship Promotional Scheme – NAPS), राष्ट्रीय कैरियर सेवा (National Career Service – NCS) और उच्च शिक्षण संस्थानों में B.A / B.Sc / B.Com पाठ्यक्रम शुरू करने के माध्यम से किया जाएगा। सेक्टर स्किल काउंसिल (Sector Skill Council – SSCs) श्रेयस स्कीम 2019 का कार्यान्वन करेगी। इस योजना में बैंकिंग फाइनेंस इंश्योरेंस सर्विस (BFSI), रिटेल, हेल्थ केयर, टेलीकॉम, लॉजिस्टिक्स, मीडिया, मैनेजमेंट सर्विसेज, ITeS और Apparel सेक्टर शामिल होंगे।

श्रेयस योजना कार्यान्वयन – ट्रैक

SHREYAS कार्यक्रम में 3 ट्रैको को साथ-साथ जोड़ा जाएगा:

  • पहला ट्रैक – ऐड-ऑन अपरेंटिसशिप (Degree apprenticeship)
  • दूसरा ट्रैक – एंबेडेड अप्रेंटिसशिप
  • तीसरा ट्रैक – कॉलेजों के साथ राष्ट्रीय कैरियर सेवा को जोड़ना

SSC द्वारा पहले से ही 100 से अधिक क्षेत्रों को जोड़ा जा चुका है, जहां अप्रेंटिसशिप के अवसर प्रदान किए जा रहे हैं। एसएससी (Sector Skill Council) अपने प्लेसमेंट सेल की सहायता से संबंधित कॉलेजों के साथ उन उद्योगों की पहचान करेगा, जहां छात्रों को अप्रेंटिसशिप के अवसर मिलेंगे।

Related Content