झारखण्ड सहिया आरोग्य कुंजी योजना 2019-20 – हर गांव में पहुंचेगी आरोग्य कुंजी / Medical Kit

Dated: January 21, 2019 | Updated On: April 26, 2019 | By: Karan Chhabra |
Jharkhand Sahiya Arogya Kunji Yojana

झारखंड सरकार राज्य में जल्द ही सहिया आरोग्य कुंजी योजना शुरू करेगी। मुख्यमंत्री रघुबर दास ने हाल ही में इस सरकारी योजना की घोषणा करी है। सीएम का कहना है की आरोग्य कुंजी (medical kit) सभी गांवों में उपलब्ध कराई जाएगी, जिससे की प्रदेश के सभी नागरिकों को उचित स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान की जा सकें। Mukhyamantri Raghubar Das ने 22 जनवरी 2019 को पेश होने वाले झारखंड बजट 2019 – 2020 में ग्रामीण क्षेत्रों के लिए इस आरोग्य कुंजी को शामिल करेंगे।

झारखंड सरकार का कहना है की सहिया आरोग्य कुंजी योजना 2019 (Sahiya Arogya Kunji Yojana) से ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य सुविधाओं में बहुत सुधार आयेगा। यह देश भर में अपनी तरह की एक अनोखी पहल है जिससे सभी जिलों के गरीब और वंचित लोगों को इससे लाभ मिलेगा।

19 जनवरी 2019 को चतरा में आयोजित मेडिकल किट और मोबाइल एम्बुलेंस के डिस्ट्रिब्यूशन समारोह में CM द्वारा यह घोषणा करी गई।

झारखण्ड सहिया आरोग्य कुंजी योजना 2019

सीएम ने 19 जनवरी को आयोजित कार्यक्रम में कहा की सहिया आरोग्य कुंजी योजना (Sahya Arogya Kunji Scheme) राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं को ऊपरी स्तर पर ले जाने का काम करेगी। क्यूंकि बहुत से गरीब लोग ऐसे हैं जिनहे health scheme benefit नहीं मिल रहे हैं। इसीलिए यह योजना निचले से निचले गरीब से गरीब लोगों तक पहुंचेगी।
यह एक नई योजना है जो लोगों को गांवों में बेहतर स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ उठाने में सक्षम करेगी और लोगों को बेहतर इलाज कराने के लिए शहरों की तरफ नहीं भागना पड़ेगा।

इससे पहले, राज्य सरकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आयुष्मान भारत – पीएम जन आरोग्य योजना भी राज्य में शुरू कर चुकी है। AB-PMJAY दुनिया की सबसे बड़ी योजना है जो लोगों को 5 लाख रूपये तक का फ्री और कैशलेस उपचार प्रदान करती है।

झारखंड में आयुष्मान भारत योजना के लिए राज्य सरकार ने 400 करोड़ रूपये का बजटीय प्रावधान किया है। जिससे लगभग 57 लाख परिवार इस राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना (National Health Protection Scheme) से लाभान्वित होंगे।

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय सुरक्षा मिशन (PM Rashtriya Swasthya Suraksha Mission) या आयुष्मान भारत योजना में उन सभी लोगों को शामिल किया गया है, जिनका नाम SECC 2011 database में है। झारखंड सरकार वित्त वर्ष 2022 तक न्यू इंडिया (New India by FY 2022) बनाने के उद्देश्य से हेल्थ फॉर ऑल मिशन (Health For All) पर काम कर रही है।

Related Content