For: Minorities

मोदी सरकार द्वारा मुस्लिम लड़कियों के लिए 51000 रुपये शादी शगुन योजना

September 8, 2017 | UPDATED ON: September 7, 2019
Shadi Shagun Scheme for Muslim Girls

नरेंद्र मोदी सरकार ने मुस्लिम लड़कियों के लिए “शादी शगुन” नामक एक नई योजना को शुरू करने पर विचार कर रही है। इस योजना में स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी कर चुकी मुस्लिम समुदाय की लड़कियों को शादी के उपहार के रूप में 51000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

इस योजना का उद्देश्य मुस्लिम लड़कियों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए प्रोत्साहित करना है। इस योजना का लक्ष्य पूरे देश की सभी मुस्लिम लड़कियों को पढाई के लिए प्रोत्साहित करना है। शादी शगुन योजना का लाभ केवल उन लड़कियों को प्रदान किया जाएगा जो अपनी स्नातक स्तर की पढ़ाई पूरी कर चुकी हैं।

मुस्लिम लड़कियों के लिए शादी शगुन योजना

मोदी सरकार की शादी शगुन योजना के कुछ मुख्य आकर्षण नीचे दिए हुए हैं

  • यह योजना पूरे देश में केवल मुस्लिम लड़कियों के लिए लागू होगी।
  • मौलाना आजाद शैक्षिक फाउंडेशन द्वारा एक वेबसाइट विकसित की जा रही है जहां इस योजना के बारे में सभी जानकारी उपलब्ध कराई जाएगी।
  • पहले से ही MAEF छात्रवृत्ति प्राप्त करने वाले ग्रेजुएशन मुस्लिम लड़कियों को भी योजना के तहत शादि शगुन के रूप में 51000 रुपये मिल सकते है।
  • नकद पुरस्कार उन लड़कियों को नहीं दिया जाएगा जिन्होंने अपनी ग्रेजुएशन स्तर की पढ़ाई पूरी नहीं की है।

इस योजना के पीछे का उद्देश्य मुस्लिम लड़कियों और उनके माता-पिता को कम से कम ग्रेजुएशन स्तर तक अपनी शिक्षा पूरी करने के लिए प्रोत्साहित करना है। केंद्र सरकार ने यह भी निर्णय लिया है कि 9वीं और 10वीं कक्षा में पढ़ाई जाने वाली मुस्लिम लड़कियों को 10,000 रुपये का पुरस्कार दिया जाएगा। अब तक केवल कक्षा 11 और बारहवीं में पढ़ाई करने वाली (मुस्लिम) लड़कियां 12 हजार रुपये की छात्रवृत्ति प्राप्त करने के योग्य थी।

आज भी मुस्लिम समुदाय की लड़कियों को अक्सर वित्तीय बाधाओं के कारण बड़ी शिक्षा से वंचित किया जाता है। शादी शगुन योजना निश्चित तौर पर बच्चों और उनके माता-पिता को उच्चतर शिक्षा के लिए प्रेरित करेगी।

शादी शगुन योजना अभी तक शुरू नहीं की गई है इसलिए इस योजना का पूरा विवरण आधिकारिक तौर पर लॉन्च होने के बाद ही उपलब्ध कराया जाएगा।

SAVE AS PDF
Karan Chhabra at सरकारी योजना
Related Content