श्री करतारपुर साहिब तीर्थयात्रा 2019-20 | डेरा बाबा नानक पंजाब ऑनलाइन पंजीकरण व पूरा प्रोसैस

Published on: 2019-10-25 14:34:11

श्री करतारपुर साहिब तीर्थयात्रा 2019-20 | डेरा बाबा नानक पंजाब ऑनलाइन पंजीकरण व पूरा प्रोसैस

करतारपुर गलियारे को चालू करने के समझौते पर भारत और पाकिस्तान सरकार के हस्ताक्षर करने के बाद तीर्थयात्रियों के लिये श्री करतारपुर साहिब तीर्थयात्रा 2019-20 के लिए ऑनलाइन पंजीकरण (Sri Kartarpur Sahib Corridor Online Registration) के लिए पोर्टल को वीरवार को शुरू कर दिया गया है। इस गलियारे के माध्यम से भारत के सिख तीर्थयात्री अब पाकिस्तान में स्थित श्री करतारपुर साहिब दर्शन के लिए जा सकेंगे। समझौते पर हस्ताक्षर होने के बाद जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार तीर्थयात्रियों के ऑनलाइन पंजीकरण (Dera Baba Nanak apply online form) के लिए गुरूवार से पोर्टल prakashpurb550.mha.gov.in शुरू हो गया है, जहां पर आप 10 नवंबर 2019 से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं।

तीर्थयात्रियों को यात्रा की तिथि से तीन-चार दिन पहले उनके पंजीकरण की पुष्टि के बारे में एसएमएस या ईमेल के माध्यम से सूचना दी जाएगी। एक ‘इलेक्ट्रॉनिक ट्रैवल ऑथराइजेशन’ भी जारी किया जाएगा। बयान में कहा गया कि तीर्थयात्री जब यहां पैसेंजर टर्मिनल बिल्डिंग पहुंचेंगे, तब उन्हें अपने पासपोर्ट के साथ ‘इलेक्ट्रॉनिक ट्रैवल ऑथराइजेशन’ भी अपने पास रखना होगा।

इस समझौते के साथ पाकिस्तान सरकार ने भारत को लंगर और प्रसाद वितरण के लिए पर्याप्त व्यवस्था करने का भी भरोसा दिलाया है।

श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर तीर्थयात्रा ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

डेरा बाबा नानक पंजाब के लिए पंजीकरण कैसे करना है व इसका पूरा प्रोसैस आप नीचे देख सकते हैं:

करतारपुर गलियारा पंजाब स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारा को पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में नरोवल जिला स्थित दरबार साहिब से जोड़ेगा। समझौते के मुताबिक भारत यात्रा की तारीख से 10 दिन पहले पाकिस्तान को तीर्थयात्रियों की सूची भेजेगा। यात्रा की तारीख से चार दिन पहले तीर्थयात्रियों की इसकी पुष्टि भेजी जाएगी।

पाकिस्तान ने कहा कि सभी धर्मों के भारतीय तीर्थयात्री एवं भारतीय मूल के लोग गलियारे का इस्तेमाल कर सकेंगे और वीजा मुक्त यात्रा कर सकेंगे। इसमें कहा गया है कि करतारपुर गलियारा सूर्योदय से सूर्यास्त तक खुला रहेगा। सुबह तीर्थयात्रा पर जाने वाले तीर्थयात्रियों को उसी दिन शाम तक लौटना होगा और यह कॉरिडोर पूरे साल चालू रहेगा। सिवाय अधिसूचित दिनों को छोड़ कर, जिस बारे में पूर्व सूचना दे दी जाएगी।

तीर्थयात्रियों के पास अकेले या समूह में जाने की और पदयात्रा करने का विकल्प होगा।

श्री करतारपुर साहिब कॉरिडोर तीर्थयात्रा मुख्य बातें

करतारपुर साहिब यात्रा के लिए तीर्थयात्रियों को कुछ बातों को फॉलो (Sri Kartarpur Sahib Corridor Online Registration Important Instructions) करना होगा जो निम्न्लिखित हैं:

डेरा बाबा नानक पंजाब फीस (Dera Baba Nanak – Sri Kartarpur Sahib Pilgrimage Fees) : पाकिस्तान द्वारा प्रति तीर्थयात्री से प्रति यात्रा सेवा शुल्क के तौर पर 20 डॉलर लिए जाएंगे। तीर्थयात्रियों से किसी भी तरह का शुल्क ना लिया जाये इसके लिए केंद्र सरकार ने पाकिस्तान सरकार ने अनुरोध भी किया है।

रावी नदी के तट पर स्थित गुरुद्वारा करतारपुर साहिब में सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव ने अपने जीवन के अंतिम 18 वर्ष बिताए थे। केंद्रीय कैबिनेट ने पिछले साल 22 नवंबर को एक संकल्प पारित किया था कि गुरु नानक देव जी के 550 प्रकाश वर्ष को पूरे देश में और दुनिया भर में भव्य तरीके से मनाया जाएगा।

Visit us at https://sarkariyojana.com

The content of this document including any images, logos, videos, graphics or some object / property names are the property of their actual copyright/trademark owners. sarkariyojana.com does not claim to own these copyright / trademark properties. Neither sarkariyojana.com is associated with any government organization / agency / authority or individual official in any way.