Please Wait...
Preparing the PDF

राजस्थान मुख्यमंत्री मुफ्त कोचिंग योजना 2019 – विद्यार्थियों को निशुल्क जेईई,नीट परीक्षा कोचिंग

Published on sarkariyojana.com

राजस्थान मुख्यमंत्री मुफ्त कोचिंग योजना 2019 – विद्यार्थियों को निशुल्क जेईई,नीट परीक्षा कोचिंग

राजस्थान सरकार ने मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना (Mukhyamantri Free Coaching Scheme in Rajasthan) चला रखी है। यह सरकारी योजना उन विद्यार्थियों के लिए है जो नीट, जेईई की परीक्षा के लिए तैयारी कर रहे हैं। पहले मुख्यमंत्री मुफ्त कोचिंग योजना (Rajasthan Govt. Mukhyamantri Free Coaching Scheme) के अंतर्गत उन छात्र-छात्राओं को मुफ्त में प्रशिक्षण दिया जाता था जो सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के छात्रावासों में रहते थे लेकिन अब इसके दायरे को बढ़ा दिया है जिसके तहत अब सभी नीट, जेईई की परीक्षा की तैयारी कर रहे विद्यार्थी इसका लाभ ले सकते हैं पर अभी भी प्राथमिकता छात्रावासों में रह रहे विद्यार्थियों के लिए ही रहेगी।

हाल ही में किए गए नियमों में संशोधन के अनुसार सीएम मुफ्त कोचिंग योजना का दायरा संभागीय मुख्यालयों अजमेर, बीकानेर, भरतपुर, जयपुर, जोधपुर, कोटा, उदयपुर, जिला मुख्यालय सीकर तथा उपखंड कुचामन सिटी नागौर तक बढ़ा दिया गया है। इन संभागों में संचालित छात्रावासों अथवा राजकीय छात्रावासों में आवास नहीं करने वाले विद्यार्थियेां के लिए भी यह योजना (CM Gehlot Free Coaching Scheme in Rajasthan) होगी।

पहले सीएम मुफ्त कोचिंग योजना (CM Ashok Gehlot Free Coaching Scheme in Rajasthan) के तहत सिर्फ कोटा और जयपुर के 500-500 विद्यार्थियों का चयन होता था, अब योजना सात संभाग मुख्यालयों और उपखंड कुचामन सिटी के एक हजार विद्यर्थियों के लिए होगी। जिनमें से 30 प्रतिशत स्थान छात्राओं के लिए आरक्षित किया जाएगा। वहीं उपयुक्त जिलों से ऑनलाइन आवेदन पत्रों के आधार पर आरक्षित श्रेणीवार मैरिट से विद्यार्थियों का चयन किया जाएगा।

सीएम मुफ्त कोचिंग योजना – पात्रता व शर्तें

मुख्यमंत्री फ्री कोचिंग स्कीम का लाभ लेने के लिए विद्यार्थी सरकार द्वारा निर्धारित की गई शर्तों, पात्रता (Eligibility Criteria for Free Coaching Scheme in Rajasthan) व मानदंडों को पूरा करता हो अन्यथा उसे योजना का लाभ नहीं दिया जाएगा:

  • विद्यार्थी राजस्थान का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • परिवार की वार्षिक आय जो पहले 2.5 लाख थी उसे बढ़ाकर 8 लाख रूपये कर दिया गया है।
  • विद्यार्थी के पास अपना आधार कार्ड होना चाहिए।
  • आवेदक ऊपर बताए गए शहरों या उपखंडों में से आता हो।
  • रिहायसी प्रमाण-पत्र का होना अनिवार्य है।

इस बार योजना के तहत सिर्फ जयपुर-कोटा के विद्यार्थियों को ही जेईई व नीट परीक्षाओं के अलावा विधि और प्रबंधन की तैयारी करवाई जाएगी। जेईई और नीट परीक्षा के लिए अजमेर, बीकानेर के लिए 50-50 सीटें, भरतपुर व कुचामन सिटी के लिए 20-20, उदयपुर और जोधपुर के लिए 100-100, जयपुर व कोटा के लिए 250-250 और सीकर के लिए 160 सीटें होंगी। हालांकि पिछली बार इस योजना में विधि और प्रबंधन के लिए कोचिंग संस्थान नहीं मिल पाए थे।

नीट परीक्षा के लिए हर साल 15 लाख विद्यार्थी देशभर में परीक्षा देते हैं और अकेले राजस्था से 1.5 – 2 लाख लेते बच्चे इस परीक्षा में भाग लेते हैं। इसके साथ ही जेईई मेन 10 लाख छात्र-छात्राएं देते हैं और राज्य के लगभग 1 लाख छात्र इसकी परीक्षा में बैठते हैं ऐसे में सरकार का यह कदम सराहनीय है। इस बार भी जनवरी में जेईई और मई में नीट जैसी परीक्षाएं होनी हैं, मुख्यमंत्री फ्री कोचिंग योजना के लिए आवेदन 15 दिसंबर से लिए जाएंगे।

इसके अलावा किसी भी अन्य प्रकार की जानकारी के लिए आप सामाजिक न्याय अधिकारिता के http://www.sje.rajasthan.gov.in/Default.aspx?PageID=345 पोर्टल पर जा सकते हैं या फिर दिशा-निर्देश पढ़ सकते हैं।
मुख्यमंत्री निशुल्क कोचिंग योजना दिशा-निर्देश
हेल्पलाइन नंबर – 1800-180-6127

Visit us at https://sarkariyojana.com

The content of this document including any images, logos, videos, graphics or some object / property names are the property of their actual copyright/trademark owners. sarkariyojana.com does not claim to own these copyright / trademark properties. Neither sarkariyojana.com is associated with any government organization / agency / authority or individual official in any way.