अटल भूजल योजना 2020 – पीएम मोदी ने करी अटल टनल व जल संरक्षण अभियान की शुरुआत

Read in English Views: 7293 2 Comments - Leave a Comment Ministry: Ministry of Jal ShaktiBeneficiaries: Everyone,

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार (25 दिसम्बर 2019) को पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी की 95वीं जयंती के अवसर पर अटल भूजल योजना 2020 (Atal Bhoojal Yojana – ABY) की शुरुआत कर दी है। इस सरकारी योजना के अलावा पीएम मोदी ने अटल टनल (Central Govt. Water Conservation Scheme) का भी उद्घाटन किया। दिल्ली के विज्ञान भवन में हुए कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज भारत के दो रत्न अटल बिहारी वाजपेयी और मदन मोहन मालवीय जी का जन्म दिवस है हमे उनसे प्रेरणा लेनी चाहिए और उनकी शिक्षाओं को अपने आचरण में लाना चाहिए। इस साथ ही अटल भूजल के माध्यम से पानी बचाने के मंत्र भी दिए और बताया कि कैसे किसान, युवा, स्टार्टअप करने वाले लोग पानी बचाने के लिए अपना योगदान दे सकते हैं।

पीएम मोदी ने बताया की भारत देश के आजाद होने के बाद 70 सालों में सिर्फ 3 करोड़ घरों में ही पीने का शुद्ध पानी पहुंचा है, जिसको हमें अगले पांच सालों में तेज रफ्तार से आगे लेकर जाना है और यह कार्य बिना देश के नागरिकों के समर्थन के मुमकिन नहीं है। अभी हाल ही में 73वें स्वतंत्रता दिवस पर लाल किले से भाषण देते हुए पीएम जल जीवन मिशन 2019 (Atal Bhoojal Yojana – Water Conservation Scheme by Narendra Modi) की भी शुरुआत प्रधानमंत्री द्वारा की गई है। अपने भाषण के दौरान उन्होने चुटकी लेते हुए यह भी कहा की आज दिल्ली में पीने के पानी को लेकर काफी हंगामा हो रहा है जिसके लिए सरकार को हर संभव प्रयास करने चाहिए।

मज़ाक करते हुए उन्होने यह भी कहा की कल को हेडलाइन बनेगी ‘तीन लाख करोड़ पानी में’। पीएम ने कहा कि हर राज्य पानी के संरक्षण के लिए आगे आए और केंद्र सरकार पहले ही इस योजना पर काम शुरू कर चुकी है और सैटेलाइट से नज़र भी रखी जा रही है की कहाँ-कहाँ पानी के ताल, तालाब सूख रहे हैं।

अटल भूजल योजना | जल संरक्षण अभियान

अटल भूजल योजना (PM Modi Atal Bhoojal Abhiyaan – PMABY) को 12 दिसंबर को ही वर्ल्ड बैंक की ओर से मंजूरी मिल गयी थी। इस 6,000 करोड़ रुपये की लागत वाली परियोजना में 50 फीसदी हिस्सेदारी भारत सरकार की होगी, जबकि आधा हिस्सा वर्ल्ड बैंक की ओर से खर्च किया जाएगा। इस स्कीम के माध्यम से जल संकट से प्रभावित वाले राज्य जैसे की उत्तर प्रदेश, गुजरात, हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, राजस्थान और महाराष्ट्र में लागू किया जाएगा। इन राज्यों का चयन भूजल की कमी, प्रदूषण और अन्य मानकों को ध्यान में रखते हुए किया गया है।

सरकार के दावों के अनुसार यह योजना (PMABY) किसानों की आय दोगुनी करने में मदद करेगी। इस योजना से 8,350 गांवों को लाभ मिलेगा। सरकार के मुताबिक पानी की समस्या से निपटने के लिए अटल भूजल योजना पर पांच साल में 6,000 करोड़ रुपये का खर्च होगा।

— ग्राम पंचायत स्तर पर जल सुरक्षा के लिए काम किया जाएगा। भूजल के संरक्षण के लिए शैक्षणिक और संवाद कार्यक्रमों को संचालित किया जाएगा।
— इस स्कीम में आम लोगों को भी शामिल किया जाएगा। वाटर यूजर एसोसिएशन, मॉनिटरिंग और भूजल की निकासी के डेटा संकलन की मदद से इस स्कीम को आगे बढ़ाया जाएगा।

अभी के लिए योजना को चयनित राज्यों में शुरू करने के निर्देश दे दिये गए हैं बाकि देखना है की जमीनी स्तर पर इसके कितने प्रभाव देखने को मिलते हैं।

अटल टनल की विशेषताएँ

प्रधानमंत्री ने एक किस्सा बताते हुए कहा कि मनाली के पास एक गांव में आज हवन हो रहा है और देश में कई जगहों पर पानी की किल्लत से निपटने के लिए लोग हर प्रयास करने के लिए तैयार बस पानी के इस्तेमाल की थोड़ी जागरूकता उपलब्ध कराने की आवश्यकता है। वर्षा अच्छी हो इसके लिए जगह-जगह पर हवन किए जा रहे हैं। उन्होने बताया की इस टनल (Atal Bhujal Campaign – ABY) का काम पूर्व प्रधानमंत्री अटल जी ने शुरू किया था पर किसी कारणवश पूरा नहीं हो सका। अब वे खुद उनके सपने को आगे बढ़ाएँगे।

प्रधानमंत्री बोले कि करगिल के युद्ध के बाद सुरक्षा की दृष्टि से इस टनल का उपयोग काफी महत्वपूर्ण है। लेह-लद्दाख और करगिल का भी भाग्य इस टनल से बदल जाएगा। पानी के मुद्दे पर अटल बिहारी वाजपेयी ने काफी काम किया था। अटल भूजल योजना के तहत 2024 तक हर घर में पीने का पानी पहुंचाया जाएगा।

कार्यक्रम में पीएम ने बताया कि अटल जी की अगुवाई में शांता कुमार ने पानी को लेकर बड़ी योजना (PMABY) चलाई थी, लेकिन बाद में जब अटल जी की सरकार चली गई तो पानी की योजना ही बह गई। हमारी सरकार ने पिछले कार्यकाल में इसपर काम करना शुरू कर दिया था।

Content Source / Reference Link: https://aajtak.intoday.in/story/pm-narendra-modi-atal-bhujal-yojana-inauguration-delhi-speech-1-1149076.html SAVE AS PDF
Related Content

2 thoughts on “अटल भूजल योजना 2020 – पीएम मोदी ने करी अटल टनल व जल संरक्षण अभियान की शुरुआत”

    • Balasaheb, Atal Bhujal Yojana is beneficial to farmers as this scheme is mainly focused on increasing groundwater level (Bhu means earth and jal means water). Most of the farmers depend on tubewells and other groundwater resources for irrigation purposes. So this scheme will raise water level inside the earth and thus farmers would be able to properly sow crops. So, this scheme is basically to provide better water availability to individual farmers.

      Reply

Leave a Comment

Sarkari Yojana App Download
CLOSESHARE ON: