निष्ठा योजना शिक्षक प्रशिक्षण अभियान 2020 – फ्री ट्रेनिंग प्रोग्राम ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन

PM निष्ठा योजना शिक्षक प्रशिक्षण अभियान (NISHTHA) फ्री ट्रेनिंग प्रोग्राम के लिए nishtha.ncert.gov.in पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करें, देखें प्रधानाचार्य, अध्यापकों के प्रशिक्षण की पूरी जानकारी

केंद्र सरकार ने शिक्षा के क्षेत्र में एक बड़ा कदम उठाते हुए निष्ठा योजना 2020 (NISHTHA Yojana – Teachers Training Program) को शुरू करने का निर्णय लिया है। प्रधानमंत्री के इस शिक्षक प्रशिक्षण अभियान में मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा लाखों शिक्षकों को फ्री ट्रेनिंग (HRD NISHTHA Yojana) दी जाएगी। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने शिक्षकों को ट्रेनिंग देने वाली निष्ठा योजना को 22 अगस्त से देश में शुरू कर दिया है। शिक्षक प्रशिक्षण अभियान (PM NISHTHA Scheme) अपने आप में पूरी दुनिया में इकलौता ऐसा अभियान है जिसमें 42 लाख शिक्षकों को मुफ्त प्रशिक्षण दिया जाएगा।

निष्ठा योजना 2020 (Pradhan Mantri NISHTHA Yojana) में सभी सरकारी स्कूलों के शिक्षकों और प्रधानाचार्य को इस सरकारी योजना में शामिल किया जाएगा। इसके अलावा एससीईआरटी और डीआईईटी के सदस्यों को भी इसमें शामिल किया जाएगा।

भारत देश पारंपरिक रूप से शिक्षा और शिक्षकों के निर्माण मऔर नेतृत्व के लिए हजारों साल से जाना जाता है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह सपना भी है की भारत देश को विश्व गुरु बनाना है।

निष्ठा शिक्षक फ्री ट्रेनिंग प्रोग्राम Implementation

मानव संसाधन विकास मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ने गुरुवार 16 जुलाई 2020 को नेशनल इनिशिएटिव फॉर स्कूल हेड्स एंड टीचर्स होलिस्टिक एडवांसमेंट (निष्ठा) योजना का पहला ऑनलाइन कार्यक्रम आंध्र प्रदेश के 120 प्रमुख संसाधन व्यक्तियों के लिए लॉन्च कर दिया है। कोरोना संकट को देखते हुए जब हम हर प्रकार से डिजिटल प्रणाली की तरफ बढ़ रहे हैं, ऐसे में निष्ठा जैसी महत्वपूर्ण योजना का डिजिटलीकरण भी अत्यंत आवश्यक था।

एनसीईआरटी ने इस दिशा में बेहद प्रशंसनीय काम किया है जिसकी वजह से आक निष्ठा के ऑनलाइन प्रारूप की शुरुआत सफलतापूर्वक की जा सकी। इसके ऑनलाइन प्रारूप में मुख्य संसाधन व्यक्ति (की रिसोर्स पर्सन) बेहद अहम भूमिका में होंगे। वह शिक्षकों के लिए परामर्शदाता की भूमिका निभाएंगे। ऑनलाइन प्रारूप में विभिन्न माध्यमों द्वारा प्रशिक्षण दिया जा सकेगा। जहां इसमें लिखित रूप से चीज़ें मिलेंगी, वहीं वीडियो भी होंगे।

इसके अलावा स्वयंप्रभा डीटीएच टीवी चैनल पर राष्ट्रीय संसाधन व्यक्तियों द्वारा लाइव सत्र भी आयोजित किये जायेंगे। शिक्षकों, एसआरजी और एनआरजी के सदस्यों के साथ बातचीत के लिए इंटरएक्टिव वॉयस रिस्पांस सिस्टम का उपयोग किया जायेगा।”

निष्ठा योजना – शिक्षक फ्री ट्रेनिंग प्रोग्राम 2020

निष्ठा योजना के तहत शिक्षक फ्री ट्रेनिंग स्कीम (Pradhan Mantri NISHTHA Yojana) को लॉन्च करते समय केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने यह भी बताया की किसी भी देश को विकसित बनाने के लिए शिक्षक, समाज, ऊर्जा केंद्र, युवा और छात्र का होना जरूरी है और टीचर वह व्यक्ति होता है जो छात्रों को अच्छी शिक्षा देकर उनको देश का एक अच्छा नागरिक बनने में मदद करते हैं जो किसी भी देश के विकास में सबसे जरूरी चीज है। शिक्षकों को दी जाने वाली इस फ्री ट्रेनिंग प्रोग्राम में निम्न्लिखित बातों को शामिल किया गया है:

  1. योग्यता आधारित शिक्षा और परीक्षण
  2. स्कूल को सुरक्षित रखने के उठाये जाने कदम
  3. व्यक्तिगत सामाजिक गुण को उभारना
  4. शिक्षा के क्षेत्र में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का उपयोग
  5. ध्यान केंद्रित करने और शरीर को स्वस्थ रखने के लिए “योग”
  6. लाइब्रेरी, इको-क्लब, यूथ क्लब, किचन गार्डन आदि की अधिक से अधिक जानकारी
  7. हर तरह की परिस्थिति में स्कूल में नेतृत्व करने के गुण
  8. पर्यावरण से संबंधित जानकारी
  9. प्री-स्कूल, पूर्व व्यावसायिक शिक्षा

इसके अलावा शिक्षकों के प्रशिक्षण में किताबों के बजाय बच्चों के बौद्धिक विकास पर मुख्य रूप से फोकस किया जाएगा साथ-साथ इस शिक्षक प्रशिक्षण अभियान (प्रधानमंत्री निष्ठा योजना) में शिक्षकों को क्लासरूम के साथ-साथ फेसबुक, व्हाट्सएप के माध्यम से भी ट्रेनिंग दी जाएगी।

केंद्रीय मंत्री ने चुटकी लेते हुए एक बात और भी बोली कि अब आईएएस बनना आसान होगा पर शिक्षक नहीं। उन्होंने यह भी बताया की शिक्षक बनने की पढ़ाई के पाठ्यक्रम में भी बदलाव किया जा रहा है और शिक्षकों को दी जा रही ट्रेनिंग में पॉक्सो एक्ट और दिव्यांगजन के लिए खास दिशा-निर्देश की भी पढ़ाई कराई जाएगी।

निष्ठा योजना फ्री ट्रेनिंग प्रोग्राम में शामिल कार्यकलाप

निष्ठा के तहत विकसित किए गये प्रारूपों के द्वारा बच्चों के साथ अध्यापकों के समग्र विकास को ध्यान में रखते हुए इसमें पाठ्यक्रम सहित निम्न्लिखित कार्यकलापों को भी जोड़ा गया है:

  • स्वास्थ्य कल्याण
  • व्यक्तिगत सामाजिक गुण
  • कला
  • स्कूली शिक्षा में पहल
  • विषय-विशेष शिक्षा
  • शिक्षण-शिक्षा में आईसीटी
  • नेतृत्व क्षमता
  • पूर्व-विद्यालय शिक्षा
  • पूर्व-व्यावसायिक शिक्षा

निष्ठा योजना शिक्षक प्रशिक्षण अभियान – मुख्य चरण

पीएम निष्ठा योजना शिक्षक प्रशिक्षण अभियान 2020 को सफल बनाने के लिए कुछ मुख्य चरणों (PM NISHTHA Yojana Phase I) पर काम किया जाएगा जो निम्न्लिखित हैं:
— नए ट्रेनिंग प्रोग्राम में तीन चरणों में प्रशिक्षण अभियान चलेगा और शिक्षक चाहें तो मोबाइल एप के माध्यम से भी जानकारी ले पाएंगे:
— भाषा, गणित, सामाजिक विज्ञान पर मुख्य रूप से फोकस होगा
— शिक्षकों की ट्रेनिंग की ऑनलाइन निगरानी
— ट्रेनिंग के दौरान अटेंडेंस की भी होगी जांच
— किसी तरह की परेशानी आने पर काउंसलिंग की दी जाएगी
— छात्रों की क्या परेशानियाँ हैं उनको समझने के लिए स्पेशल फोकस ट्रेनिंग

इस समय देश भर के सभी सरकारी स्कूलों में 90 लाख शिक्षक हैं निष्ठा योजना के पहले चरण में मोदी सरकार पहली से आठवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को पढ़ाने वाले 42 लाख शिक्षकों को ट्रेनिंग देगी, उसके बाद दूसरा चरण शुरू होगा।

निष्ठा योजना शिक्षक ट्रेनिंग प्रोग्राम हेल्पलाइन

हेल्पलाइन नंबर – 1800111265, 1800112199

निष्ठा योजना – फ्री ट्रेनिंग प्रोग्राम FAQs

निष्ठा योजना शिक्षक फ्री ट्रेनिंग प्रोग्राम की आधिकारिक वेबसाइट कौनसी है

निष्ठा योजना की ज्यादा जानकारी के लिए आप https://itpd.ncert.gov.in पर जा सकते हैं।

निष्ठा मेगा-प्रशिक्षण कार्यक्रम अन्य प्रशिक्षण कार्यक्रमों से कैसे भिन्न है

निष्ठा मेगा-प्रशिक्षण कार्यक्रम अपने उद्देश्यों, दृष्टि के साथ-साथ निष्पादन के पूरे प्रारूप के संदर्भ में अन्य प्रशिक्षण प्रोह्रामम्स से अलग है। निष्ठा मेगा-प्रशिक्षण कार्यक्रम के उद्देश्य हैं:
अ. प्रारंभिक चरण के सभी शिक्षकों को सीखने के परिणामों, स्कूल आधारित मूल्यांकन, शिक्षार्थी-केंद्रित शिक्षण, शिक्षा में नई पहल और कई शिक्षाविदों आदि के माध्यम से बच्चों की विविध आवश्यकताओं को संबोधित करना, इत्यादि से लैस करना।

.छात्रों के सीखने के परिणामों में सुधार के मद्देनजर इन शिक्षकों को कक्षा स्तर तक कई मोड का उपयोग करके व्यापक सहायता प्रदान करना।

स. राज्य के अधिकारियों और प्रधानाचार्यों को सीखने के परिणामों, राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण, शिक्षार्थी-केंद्रित शिक्षाशास्त्र, और स्कूली शिक्षा में नई पहल पर उन्मुख करना ताकि, वे स्कूलों की निगरानी और नई पहल के कार्यान्वयन के लिए स्कूलों को समर्थ बनाने में सहायता प्रदान कर सकें।

निष्ठा मेगा प्रशिक्षण में किन लोगों को शामिल किया जाएगा और यह प्राथमिक विद्यालयी शिक्षा को कैसे लाभान्वित करेगा

यह प्रशिक्षण कार्यक्रम शिक्षकों, स्कूल प्रधानाचार्यों, एसएमसी और राज्य / जिला / ब्लॉक / क्लस्टर स्तर के अधिकारीयों के लिए आयोजित किया जाएगा । यह कार्यक्रम प्राथमिक विद्यालयी शिक्षा को निम्नलिखित तरीकों से लाभान्वित करेंगे :

I. सभी प्राथमिक चरण शिक्षण पर काम कर रहे शिक्षकों, प्रधानाचार्यों, ब्लॉक संसाधन समन्वयकों, क्लस्टर संसाधन समन्वयकों को सीखने के परिणाम, बच्चों के सामाजिक व्यक्तिगत गुणों में सुधार, स्कूल-आधारित मूल्यांकन, नई पहल, स्कूल सुरक्षा और विभिन्न विषयों की शिक्षा, आदि के लिए शिक्षार्थी-शिक्षण प्रशिक्षण में समाविष्ट किया जाएगा।

II.इसी तरह, डीआईईटी, एससीईआरटी, आईए एसई, सीटीई, आदि के संकाय सदस्यों को सीखने के परिणामों, स्कूल आधारित मूल्यांकन, शिक्षार्थी-केंद्रित शिक्षण, शिक्षा में नई पहल, बच्चों के सामाजिक गुणों को बेहतर बनाने और विभिन्न विषयों की शिक्षा आदि शिक्षार्थी के प्रशिक्षण के लिए समाविष्ट किया जाएगा।

मेगा में दी गई निगरानी और सहायता तंत्र क्या होगा- प्रशिक्षण

बीआरसी, सीआरसी, एनजीओ, केवी, एनवी और, सहित एक एकीकृत निगरानी और समर्थन तंत्र सीबीएसई स्कूल प्रत्येक चरण में स्थापित किए जाएंगे, यह देखने के लिए कि क्या हस्तक्षेप के दौरान प्रदान किया गया है प्रशिक्षण कार्यक्रम कक्षा स्तर तक पहुँचता है।

राष्ट्रीय संसाधन समूह (एनआरपी) कौन होंगे

राष्ट्रीय स्तर की संस्थाओं में कार्यरत शिक्षाविद, विषय-विशेषज्ञ और शैक्षिक शिक्षक जैसे एनसीईआरटी, एनआईईपीए, और विश्वविद्यालय आदि।

प्रमुख संसाधन व्यक्तियों (केआरपी) कौन होंगे

डीआईईटी, एस सी ई आर टी , आई ए एस ई , सी टी ई के शिक्षक और वरिष्ठ माध्यमिक स्कूलों से शिक्षकों की राज्य और संघ राज्यक्षेत्र से पहचान करके राष्ट्रीय संसाधन व्यक्तियों द्वारा उनकी क्षमताओं का निर्माण होगा।

राज्य संसाधन व्यक्तियों – नेतृत्व (एसआरपीएल) कौन होगा

विद्यालय प्रधानाचार्य या प्रभारी जिसने एन आई ई पी ए से राष्ट्रीय नेतृत्व कार्यक्रम का प्रशिक्षण लिया हुआ हो ।

निष्ठा महाप्रशिक्षण कार्यक्रम की रूपरेखा का हस्तांतरण कैसे होगा

इस कार्यक्रम का आयोजन अनुकूलित सोपान विधि द्वारा किया जायेगा। राष्ट्रीय संसाधन समूह (एनआरजी) राज्यों / संघ राज्य क्षेत्रों के प्रमुख संसाधन व्यक्तियों (जोकि राज्य और संघ राज्यक्षेत्र द्वारा शिक्षक प्रशिक्षण के लिए पहचाने जा चुके हों ) और राज्य संसाधन व्यक्तियों (जोकि राज्य और संघ राज्यक्षेत्र द्वारा विद्यालय प्रधानाचार्य और बाकि कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण के लिए पहचाने जा चुके हों ) को प्रशिक्षित करेंगे। यह के आर पी और एस आर पी प्रत्यक्ष्य रूप से प्रधानाचार्य और शिक्षकों को प्रशिक्षित करेंगे । मास्टर प्रशिक्षक की परत बीच में नहीं होगी । यह प्रक्रिया संचार में होने वाली हानि की मात्रा जोकि पहली परतों में अधिक थी उसको कम करने में सहायक होगी।

Content Source / Reference Link: https://itpd.ncert.gov.in SAVE AS PDF
Related Content

Leave a Comment

Sarkari Yojana App Download
CLOSESHARE ON: