मध्य प्रदेश महा आयुष्मान योजना 2019 सभी नागरिकों (APL/BPL/Upper Class) को 7.5 लाख का स्वास्थ्य बीमा

Read in English
Dated: July 3, 2019 | Updated On: September 9, 2019 | By: Karan Chhabra |
मध्य प्रदेश महा आयुष्मान योजना 2019 सभी नागरिकों (APL/BPL/Upper Class) को 7.5 लाख का स्वास्थ्य बीमा

मध्य प्रदेश सरकार हर गरीब परिवार को आयुष्मान भारत योजना में 5 लाख रुपए तक मुफ्त इलाज देने वाली पीएम जन आरोग्य योजना में बदलाव करके महा आयुष्मान योजना 2019 (Maha Ayushman Yojana) शुरू करने जा रही है। जिसमें बड़े बदलाव के साथ मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार स्वास्थ्य का अधिकार (Right to Health) के अंतर्गत इस सरकारी योजना को शुरू करेगी। एमपी सरकार ने इस योजना को महाआयुष्मान योजना (Maha Ayushman Yojana) का नाम दिया है। एमपी मुख्यमंत्री महा आयुष्मान योजना 2019 के तहत 7.5 लाख तक का मुफ्त इलाज उपलब्ध कराया जाएगा।

केंद्र सरकार की पीएम जन आरोग्य योजना (Ayushman Bharat) के अंतर्गत केवल गरीबी रेखा से नीचे (Below Poverty Line – BPL) रहने वाले लोगों को ही लाभ मिलता था या फिर वे लोग जिनका नाम एसईसीसी 2011 फाइनल लिस्ट में है उन्हे ही मिलता था पर एमपी मुख्यमंत्री महा आयुष्मान योजना 2019 के अंतर्गत सभी वर्ग जैसे की मध्यम वर्ग (Middle Class), उच्च मध्यम वर्ग (Upper Class) और शीर्ष वर्ग (Top Class) के लोगों को 7.5 लाख रूपये तक का मुफ्त उपचार मिलेगा।

अभी तक राज्य में प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (Ayushman Bharat) के तहत 1 करोड़ 40 लाख परिवार मुफ्त इलाज के दायरे में आते हैं, लेकिन अपग्रेड महाआयुष्मान योजना से 1 करोड़ 88 लाख परिवारों को फ्री स्वास्थ्य बीमा (Health Insurance Scheme) का लाभ मिल सकेगा।

मध्य प्रदेश महा आयुष्मान योजना 2019

एमपी की यह महा आयुष्मान योजना पीएम जन आरोग्य योजना (Ayushman Bharat Scheme) का सुधरा हुआ संस्करण है, जिसको राज्य सरकार स्वास्थ्य का अधिकार नीति (Right to Health Policy) के तहत शुरू करेगी। एमपी सरकार 15 अगस्त 2019 को इस महा आयुष्मान योजना का शुभारंभ करेगी। यह योजना अतिरिक्त 34 लाख परिवारों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करेगी, जो खाद्य सुरक्षा योजना के तहत आते हैं।

केंद्रीय सरकार की आयुष्मान भारत योजना (PM Jan Arogya Yojana – PMJAY) में खाद्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत आने वाले लोग शामिल नहीं हैं। PMJAY योजना में 83 लाख गरीब और कमजोर परिवारों को ही मुफ्त इलाज उपलब्ध कराया जाता है या जिनका नाम एसईसीसी 2011 सूची में उपलब्ध है। इसके अलावा मध्य प्रदेश सरकार स्वास्थ्य बीमा के लिए आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (Economically weaker sections – EWS) का पंजीकरण भी करा रही है।
 
अभी तक मध्य प्रदेश सरकार आयुष्मान भारत योजना में 900 करोड़ रूपये खर्च करती है पर महाआयुष्मान योजना के तहत 1.88 करोड़ परिवारों के स्वास्थ्य कवरेज का भुगतान करने के लिए राज्य सरकार को 2,000 करोड़ रुपये तक का भुगतान करना होगा।

एमपी महा आयुष्मान योजना 2019 लाभ,लाभार्थी चयन

महा आयुष्मान योजना एमपी में 5 लाख तक के मुफ्त ईलाज के अलावा राज्य सरकार अतिरिक्त 2.5 लाख का दुर्घटना बीमा भी देगी, तभी कुल मिलाकर इस योजना की प्रति परिवार मुफ्त स्वास्थ्य सेवा की लागत 7.5 लाख रूपये है। राज्य में कमलनाथ सरकार द्वारे निकाले गए आकडे के अनुसार बहुत से ऐसे मध्यम वर्ग और उच्च वर्ग के परिवार हैं जो महंगी स्वास्थ्य सेवाओं का लाभ नहीं ले सकते या जरूरत आने पर उनके पास इतने पैसे नहीं होते की वे अपना ईलाज करा सके।

इसी बात को ध्यान में रखते हुए राज्य की कमलनाथ सरकार ने केंद्र की जन आरोग्य योजना में मिलने वाले लाभों को बढ़ा कर प्रदेश में शुरू करने का निर्णय लिया हैं। अभी तक सरकार की तरफ से यह साफ नहीं किया गया है की महा आयुष्मान योजना के लिए लाभार्थियों को किसी तरह का ऑनलाइन या ऑफलाइन पंजीकरण करना पड़ेगा या नहीं।

SAVE AS PDF
Related Content