मोदी सरकार पहले 100 दिन का प्लान तैयार (Blueprint 2.0) – शिक्षा, रोजगार, कृषि पर दिया जाएगा अधिक ज़ोर

Dated: May 27, 2019 | Updated On: June 3, 2019 | By: Karan Chhabra | 842 Views | | Beneficiaries: |
मोदी सरकार पहले 100 दिन का प्लान तैयार (Blueprint 2.0

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा 2019 के चुनाव जीतने के बाद उनकी सरकार इस बार क्या-क्या काम करेगी, इसके लिए शुरुआती 100 दिनों में कार्यों के लिए योजना बना ली है। राजीव कुमार जो नीति आयोग के उपाध्यक्ष हैं उन्होने बताया की वे सरकार के लिए आर्थिक एजेंडे को तैयार कर रहे हैं। जिसके तहत केंद्र सरकार का क्या क्रियाकलाप होगा इसके लिए ब्लू प्रिंट तैयार कर लिया गया है। उनका मानना है की सरकार का शुरुआती 100 दिन का कार्य मुख्य तौर पर निजी निवेश के क्षेत्र में सरकार द्वारा भागीदारी को और बढ़ाना है।

इसके साथ सरकार ने अन्य सरकारी योजनाओं को भी शुरू करने का निर्णय लिया है जो मुख्य तौर पर कृषि उत्पादन और रोजगार के अवसरों को बढ़ाने पर ज़ोर देंगी। देश की सकल घरेलू उत्पाद (Gross domestic product – GDP) में लगातार हो रही वृद्धि को देखते हुए सरकार निवेश के क्षेत्र, इन्फ्रास्ट्रक्चर, स्वास्थ्य, रक्षा आदि के क्षेत्र में और ज्यादा निवेश करेगी। जिससे रोजगार तो बढ़ेगा ही साथ ही साथ अर्थव्यवस्था की रफ्तार को तेजी देने के लिए लोगों की भागीदारी भी बढ़ेगी।

नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने सीएनबीसी आवाज़ से एक्सक्लूसिव बातचीत में कहा की देश की जनता ने नरेंद्र मोदी को बहुमत देकर उन पर विश्वास दिखाया है। देश की जनता को पुर भरोसा है की प्रधानमंत्री मोदी जी देश का नेतृत्व करके भारत को और नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे।

प्रधानमंत्री मोदी 100 दिन प्लान (PM Modi 100 Days Plan Blueprint 2.0)

नरेंद्र मोदी 30 मई 2019 को शाम 7 बजे फिर से प्रधानमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे हैं। जिसके बाद वे अपनी सरकार की दूसरी पारी शुरू करेंगे, माना यह जा रहा है की सरकार ने अर्थव्यवस्था की रफ्तार को तेजी देने के लिए कई अहम सुधारों को लागू करने की तैयारी कर ली है। जिनको शुरुआती 100 दिनों के कार्यकाल में ही पूरा कर लिया जाएगा।

जैसा की सभी को पता है विपक्षी पार्टियों ने पीएम को बेरोजगारी और किसानों के मुद्दे पर सबसे ज्यादा घेरा था। उसके बाद भी देश की जनता ने बहुमत दे कर उन्हे फिर से अपना प्रधानमंत्री चुना। पीएम ने नीति आयोग का गठन सन 2014 में किया था और उनही के बनाये दिशा-निर्देशों पर काम किया था। इस बार भी सरकार नीति आयोग के द्वारा बनाये गए प्लान पर कार्य करेगी पर इस बार निजी निवेश, कृषि उत्पादन, शिक्षा, रोजगार आदि पर ज्यादा ज़ोर दिया जाएगा।

इस पर पीएम के सामने सबसे बड़ी चुनौती अर्थव्यवस्था की बढ़ती रफ्तार को बरकरार रखने की होगी। राजीव कुमार ने कहा की इसके अलावा उद्योग और एक्सपोर्ट पर ध्यान केंद्रित करने की भी जरूरत है, क्यूंकि इससे आगे चलकर रोजगारों के ज्यादा से ज्यादा मौके पैदा करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा किसानों की आय को 2022 तक दुगना करना (Doubling Farmers Income by 2022) मकसद रहेगा।

Modi 2.0 (100 Days Plan) 2019

शिक्षा, निजी निवेश, कृषि उत्पादन आदि के अलावा भी नीचे बताए गए क्षेत्रों पर ध्यान दिया जा सकता है:

  • टूरिज़्म, कंस्ट्रक्शन और टेक्सटाइल्स क्षेत्र पर ध्यान दिया जा सकता है। जिससे भारी तादाद में नौकरी के अवसर पैदा होंगे।
  • एग्रीकल्चर सेक्टर जिससे किसानों की आय को 2022 तक दुगना करने में मदद मिलेगी।
  • ग्लोबल सॉफ्टवेयर प्रॉडक्ट मार्केट में भागीदारी को बढ़ाना
  • वर्ष 2022 तक 10 करोड़ श्रमिकों, मजदूरों को जीवन बीमा के तहत प्राथमिकता देना।
  • विभिन्न तरह के करों छुट (Tax rebate) को और बढ़ाना।

अभी मंत्रालय के लिए 100 दिनों के एक्शन प्लान को तैयार तो कर लिया गया है पर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री को ही लेना है

Related Content