महाराष्ट्र एग्री-टेक योजना 2019 – कृषि प्रबंधन के लिए डिजिटल ट्रैकिंग सिस्टम

Read in English Updated: By: No Comments - Leave a Comment

महाराष्ट्र सरकार ने कृषि प्रबंधन को डिजिटली ट्रैक करने के लिए महा एग्री-टेक योजना 2019 (Maha Agri-Tech Scheme) लॉन्च कर दी है। अब खेती से जुड़ी सभी जानकारी जैसे की बीज बोने से लेकर फसल कटाई तक सभी क्रमों पर नज़र रखी जा सकेगी। यह कृषि टेक योजना (Agri Tech Scheme) बुवाई क्षेत्र, वातावरण, फसलों को होने वाले विभिन्न रोगों की जांच करेगी और किसानों को पूरी जानकारी उपलब्ध कराएगी।

इस सरकारी योजना से किसानों को कृषि संबंधी सभी जानकारी आसानी से पहुँचाई जा सकेगी। जिसकी मदद से फसल से जुड़ी हुई सभी समस्याओं का समाधान आसानी से पहुंचाया जा सकेगा। महाराष्ट्र एग्री-टेक योजना देश में अपनी तरह की पहली योजना है, आने वाले समय में इस से लाखों किसान लाभान्वित होंगे।

यह सिस्टम राज्य के किसानों के लिए ऊपरी स्तर तक सहायता प्रदान करेगा, क्योंकि इसमें उपग्रह और ड्रोन तकनीक का इस्तेमाल किया जाएगा।

किसानों के लिए महाराष्ट्र एग्री-टेक योजना 2019

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री ने लोकसमवाद कार्यक्रम (LokSamwad program) में इस महा एग्री-टेक योजना 2019 (Maha Agri-Tech Scheme) को लॉन्च किया है। महाराष्ट्र रिमोट एप्लीकेशन सेंटर (Maharashtra Remote Application Centre – MRSAC) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (Indian Space Research Organization – ISRO) ने साथ मिल कर इस सिस्टम को डेवेलोप किया है जिससे राज्य में इसे सफलतापूर्वक शुरू किया जा सके। इस योजना के पहले चरण में 6 जिलों में रबी सीजन की फसल बुवाई क्षेत्र का विवरण डाला जाएगा जिससे उसे डिजिटल रूप में ट्रैक किया जा सके।

कृषि क्षेत्र में किसानों के सामने आने वाली सभी समस्याओं का समाधान इस तकनीक का उपयोग करके किया जाएगा। इस Maha Agri-Tech program के माध्यम से लगभग 1.5 करोड़ किसानों को डिजिटल प्लेटफॉर्म पर लाया जाएगा। राज्य सरकार उपग्रहों (satellites) का उपयोग करके फसल की बुवाई के क्षेत्र को मापकर बुवाई से कटाई तक के समय का सर्वेक्षण करेगी।

महाराष्ट्र एग्री-टेक योजना से मौसम में होने वाले बदलाव, फसलों से संबंधित रोग के बारे में बताकर किसानों को होने वाले नुकसान को कम करने में सहायता करेगी। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा की जैसे-जैसे खेती से संबंधित योजनाएँ ऑनलाइन होती जाएंगी, वैसे-वैसे कृषि संबंधी क्षेत्र में होने वाले नुकसान को भी रोका जा सकेगा। इसके अलावा, सीएम ने किसानों द्वारा दिए गए निर्देशों को भी ध्यान से सुना और उन्हें आश्वासन दिया कि इन निर्देशों पर भविष्य में कार्रवाई की जाएगी।

SAVE AS PDF
Related Content

Leave a Comment

CLOSESHARE ON: