हरियाणा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना 2019 – लड़कियों की शादी के लिए 51,000 सहायता / ऑनलाइन आवेदन पत्र

Dated: April 25, 2019 | Updated On: April 25, 2019 | By: Karan Chhabra | 839 Views |
<?php the_title(); ?>

हरियाणा की सरकार ने श्रम विभाग की तरफ से सभी मजदूरों, श्रमिकों की बेटी की शादी के लिए राज्य में कन्यादान योजना (Kanyadan Yojna in Haryana) चलाई हुई है। कन्यादान योजना (Kanyadaan Scheme) का लाभ सभी श्रमिकों और मजदूरों को मिलेगा चाहे वह कहीं भी क्यू ना काम करता हो। कन्यादान विवाह सहायता योजना (Marriage Assistance Scheme) के तहत सभी पंजीकृत श्रमिकों को अपनी बेटी के विवाह के लिए 51,000 रूपये वित्तीय सहायता दी जाती है जो विवाह से 3 दिन पहले ही दे दी जाती है। इस सरकारी योजना का लाभ लेने के लिए उम्मीदवारों को हरियाणा श्रम कल्याण विभाग के आधिकारिक पोर्टल पर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करना होगा।

श्रम कल्याण विभाग हरियाणा द्वारा यह सहायता राशि (Marriage Assistance Amount) एक घर में ज्यादा से ज्यादा 3 बेटियों के लिए दी जाती है। राज्य सरकार द्वारा चलाई गई इस योजना का लाभ बहुत से मजदूरों और श्रमिकों को मिल रहा है।

हरियाणा में कन्यादान विवाह सहायता योजना (Haryana Labour Kanyadan Yojna) का लाभ तभी मिलेगा जब लड़का और लड़की की आयु सरकार द्वारा बताई गई आयु के अनुसार हो।

हरियाणा कन्यादान विवाह सहायता योजना 2019

हरियाणा में कन्यादान विवाह सहायता योजना (Haryana Labour Kanyadan Yojna) में सहायता राशि जो की 51,000 रूपये है श्रम कल्याण विभाग द्वारा दी जाएगी। इस शादी शगुन विवाह योजना में ऑनलाइन आवेदन कैसे करना है इसके लिए उम्मीदवार को श्रमिक विभाग की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा। ज्यादा जानकारी के लिए आप इस पोर्टल hrylabour.gov.in पर क्लिक कर सकते हैं।

श्रमिक विभाग के पोर्टल पर जाने के बाद उम्मीदवार को “BOCW Welfare Schemes” के सेक्शन पर जाना है और फिर “कन्यादान योजना (विवाह से तीन दिन पूर्व)(धारा 22(1)(h))” पर क्लिक करना है या फिर आप इस डायरेक्ट लिंक पर भी क्लिक कर सकते हैं – कन्यादान विवाह सहायता योजना

हरियाणा कन्यादान योजना 2019 – जरूरी पात्रता / योग्यता

  • श्रमिक / मजदूर को किसी भी निर्माण शाला, कारखाना संस्था में न्यूनतम एक वर्ष के लिए पंजीकृत होना जरूरी है।
  • शादी का कार्ड और आवेदन पत्र किसी भी राजपत्रित अधिकारी (Gazetted officer) से प्रमाणित होना चाहिए।
  • आवेदन पत्र के साथ वर और वधू (सेल्फ अटेस्टेड कॉपी) का आयु प्रमाण साथ में लगा होना चाहिए। दुल्हन के लिए शादी की न्यूनतम उम्र 18 साल है और दूल्हे की शादी की न्यूनतम आयु 21 साल सरकार द्वारा तय की गई है।
  • विवाह पंजीकरण के लिए प्रमाणपत्र विवाह के 1 वर्ष के भीतर जमा करवाना जरूरी है।
  • एक आवेदक ज्यादा से ज्यादा अपनी 3 बेटियों के लिए आवेदन कर सकता है।
  • आवेदक की मृत्यु होने के बाद भी इस योजना का लाभ मिलेगा।

आवेदक को स्वयं यह भी घोषणा करनी होगी कि वे किसी अन्य बोर्ड / विभाग / निगम से आगे कोई सहायता नहीं लेंगे। किसी भी और अन्य जानकारी के लिए आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं या फिर 0172-2701373, 1800-200-0023 नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं।

Related Content