हिमाचल प्रदेश सहारा योजना 2019 – कमजोर वर्ग के रोगियों को 2,000 रुपये प्रतिमाह वित्तीय सहायता

Read in English
Dated: July 23, 2019 | Updated On: September 9, 2019 | By: Karan Chhabra |
हिमाचल प्रदेश सहारा योजना 2019 – कमजोर वर्ग के रोगियों को 2,000 रुपये प्रतिमाह वित्तीय सहायता

हिमाचल प्रदेश सरकार ने राज्य में स्वास्थ्य योजनाओं प्रधानमंत्री आयुष्मान भारत योजना और हिमकेयर योजना के बाद 15 जुलाई को सहारा योजना (Sahara Scheme) का शुभारम्भ कर दिया है। शिमला में स्थित इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज इस सरकारी योजना को राज्य में शुरू करने वाला पहला संस्थान बन गया है। हिमाचल सहारा योजना (HP Sahara Scheme) में समाज के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (Economically Weaker Section – EWS) के रोगियों को हर महीनें 2,000 रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी।

इस एचपी सहारा योजना (HP Sahara Scheme) में पार्किंसंस, घातक कैंसर, पक्षाघात, मांसपेशियों की डिस्ट्रोफी, हीमोफिलिया और थैलेसीमिया जैसी बीमारियों को शामिल किया गया हैं। इसके अलावा अन्य बीमारियाँ जैसे की क्रोनिक रीनल फैलयर या ऐसी बीमारी जो व्यक्ति को स्थायी रूप से अक्षम,अपंग कर देती है उसको भी इस एचपी सहारा योजना (Himachal Pradesh Sahara Scheme) के तहत कवर किया जाएगा। एचपी सहारा योजना की पहली बार हिमाचल प्रदेश बजट 2019-20 में घोषणा करी गई थी।

हिमाचल प्रदेश सहारा योजना के लिए राज्य सरकार ने एचपी बजट 2019-20 पेश करते हुए 2,482 करोड़ रूपये का बजट भी आवंटित किया था।

हिमाचल प्रदेश सहारा योजना लाभ / शर्तें

एचपी हिम सहारा योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थियों (Himachal Pradesh Sahara Scheme Beneficiaries) को निम्न्लीखित मुख्य बातों और विशेषताओं (HP Sahara Scheme features & benefits) पर ध्यान देना होगा:

  • एचपी सहारा योजना (HP Sahara Scheme 1st Phase) के प्रथम चरण में 12 स्वास्थ्य संस्थानों में अस्पतालों की सम्पूर्ण सुविधाएं शामिल की जाएंगी। जिनमें कुछ जिला अस्पतालों को भी शामिल किया जाएगा। इसके अलावा इन अस्पतालों में हर प्रकार की स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएंगी और रेफर किए गए मरीजों की ऑनलाइन मॉनिटरिंग भी की जाएगी।
  • IGMC के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. जनक राज ने बताया कि राज्य में ब्रेस्ट व सरवाईकल कैंसर की जांच व ईलाज के लिए मोबाइल डायगनोस्टिक वाहन (वैन) तैनात करी जाएंगी। इन मोबाइल वैन या वाहनों का इस्तेमाल राज्य में मेडिकल कॉलेज के साथ मिलकर बीमारियों को रोकने के के लिए किया जाएगा।
  • स्वास्थ्य मंत्री विपिन परमार ने कहा कि पहले चरण में लगभग 6,000 रोगियों को कवर किया जाएगा, जिनके लिए राज्य सरकार ने लगभग 14.40 करोड़ रुपये का प्रावधान किया है।

राज्य सरकार द्वारा इस एचपी मुख्यमंत्री सहारा योजना के बारे में जानकारी देने के लिए और इसे लोकप्रिय बनाने के लिए एक अभियान शुरू किया जाएगा। मान्यता प्राप्त सामाजिक स्वास्थ्य कार्यकर्ता (Accredited Social Health Activists – ASHA) और अन्य स्वास्थ्य कार्यकर्ता लाभार्थियों की पहचान करने में मदद करेंगे। योजना का प्रचार करने के लिए आशा कार्यकर्ताओं को प्रति लाभार्थी 200 रुपये का प्रोत्साहन भी दिया जाएगा।

हिमाचल प्रदेश सहारा योजना 2019 दस्तावेज़ सूची

एचपी सहारा योजना 2019 का लाभ लेने के लिए लाभार्थी के पास नीचे बताये गए जरूरी दस्तावेज़ (Documents required for Himachal Pradesh Sahara Scheme) होने चाहिए:

  1. ट्रीटमेंट रिकॉर्ड
  2. बैंक डिटेल
  3. जन्म प्रमाण पत्र
  4. पहचान पत्र
  5. आय प्रमाण-पत्र

हिमाचल प्रदेश सहारा योजना लाभार्थी चयन / पात्रता

एचपी मुख्यमंत्री सहारा योजना 2019 के अंतर्गत लाभार्थियों का चयन (HP Sahara Scheme Candidate Selection Procedure & Eligibility) किस आधार पर किया जाएगा और पात्रता क्या होगी इसके लिए आप नीचे बताई गई सूची देख सकते हैं:

  • लाभार्थी हिमाचल प्रदेश का स्थायी निवासी होना चाहिए।
  • उम्मीदवार आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से संबंध रखता हो।
  • आवेदक के पारिवार कि सालाना आय 4 लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए।
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए पात्र परिवार को जिला चिकित्सा अधिकारी के पास जरूरी प्रमाण-पत्र जमा करवाने होंगे, जिसके बाद वे इस योजना का लाभ ले सकेंगे

राज्य सरकार के आकड़ों के अनुसार प्रदेश में लगभग 4,200 मरीज एच.आई.पी/एड्स से ग्रसित हैं जिसके लिए सरकार ने एच.आई.पी/एड्स से पीड़ित मरीजों के भत्ते को बढ़ाकर 1,500 रुपये प्रतिमाह कर दिया है और निशुल्क स्वास्थ्य सुविधाओं का दायरा भी बड़ा दिया है।

SAVE AS PDF Source / Reference Link: https://hindi.news18.com/news/himachal-pradesh/shimla-bpl-patients-will-get-rs-two-thousand-under-sahara-scheme-himachal-government-hydsk-2232244.html
Related Content