आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना (DAY/NRLM/AGEY) – ई-रिक्शा,थ्री व्हीलर,फोर व्हीलर के लिए 6.50 लाख का लोन

Dated: July 5, 2019 | Updated On: July 15, 2019 | By: Karan Chhabra | 976 Views | | Beneficiaries: |
Aajeevika Grameen Express Yojana(AGEY)

केंद्र सरकार ग्रामीण क्षेत्रों में सस्ती परिवहन सेवा देने के लिए आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना (Aajeevika Grameen Express Yojana – AGEY) का विस्तार करने के लिए योजना बना रही है। आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना को दीनदयाल उपाध्याय अंत्योदय योजना (Deendayal Antyodaya Yojana – National Rural Livelihoods Mission (DAY-NRLM) के तहत देश में चलाया जाएगा। इस सरकारी योजना के जरिए देश के सभी गांवों को ब्लॉक मुख्यालयों से जोड़ने के लिए परिवहन सेवा शुरू की जाएगी। जिसके लिए केन्द्रीय सरकार स्वयं सहायता समूहों को (Self Help Groups – SGHs) मदद देगी।

मंगलवार को संसद में ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र तोमर ने दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (Deendayal Antyodaya Yojana – National Rural Livelihoods Mission (DAY-NRLM) के बारे में जानकारी दी। ग्रामीण विकास मंत्रालय की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार स्वयं सहायता समूह (Self Help Groups – SHGs) या उनके सदस्यों को वाहन खरीदने के मोदी सरकार 6.50 लाख रुपए का बिना ब्याज का लोन उपलब्ध कराएगी। इन रुपयों का इस्तेमाल वे ई-रिक्शा, थ्री व्हीलर या फिर फोर व्हीलर खरीदकर परिवहन सेवाएं उपलब्ध कराने में कर सकेंगे।

दीनदयाल अंत्योदय योजना-आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना का मुख्य उद्देश्य महिला सशक्तिकरण (Women Empowerment) को बढ़ावा देना है जो स्वयं सहायता समूहों से जुड़ी हुई हैं। ग्रामीण विकास मंत्रालय इस योजना (Deendayal Antyodaya Yojana / Aajeevika Grameen Express Yojana – AGEY) को देश में दिल्ली और चंडीगढ़ को छोड़ कर सभी राज्यों में शुरू करेगा।

आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना उद्देश्य

— आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना का मुख्य उद्देश्य (Objectives of Aajeevika Grameen Express Yojana) देश में सभी ग्रामीण क्षेत्रों में परिवहन सेवाओं को मजबूत बनाना है, जिससे उनको शहरी क्षेत्रों और ब्लॉक से जोड़ा जा सके।
— डीएवाई-एनआरएलएम के तहत रजिस्टर्ड सभी स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों को रोजगार मिलेगा। जिससे देश में बेरोजगारी की समस्या काफी समय से थी उससे निजात मिलेगी।
— नरेंद्र तोमर ने बताया कि अभी तक सभी 34 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने इस योजना को लागू करने के लिए अपनी मंजूरी दे दी है।
— योजना को शुरू करने से ऑटो सेक्टर में हो रही गिरावट को भी कम किया जा सकेगा।

आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना से यह सुनिश्चित किया जाएगा की देश का हर वह क्षेत्र जो परिवहन सुविधा से अभी तक वंचित है वह भी सस्ती आरामदायक ट्रांसपोर्ट सेवा मिल सके।

आजीविका ग्रामीण एक्सप्रेस योजना लाभ,इम्प्लीमेंटेशन

इस योजना का कार्यान्वयन दीनदयाल अंत्योदय योजना–राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन (डीएवाई-एनआरएलएम) के अंतर्गत किया जाएगा:

  • गाँव को शहर और ब्लॉक से जोड़ने के लिए सस्ती और आरामदायक परिवहन सेवा देने के लिए महिलाओं को आगे बढ़ाया जाएगा, जिससे स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों को मिलेगा रोजगार मिलेगा।
  • सभी ब्लॉकों का चयन राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन (National Rural Livelihoods Mission) के तहत किया जाएगा।
  • सबसे पहले पिछड़े क्षेत्र जहां पर परिवहन संपर्क कम है उनका चयन किया जाएगा।
  • एसआरएलएम के जरिए ही राज्य परिवहन विभाग की ओर से वाहनों को परमिट आदि दिये जाएंगे और बाकी की औपचारिकताएं पूरी की जाएंगी।

अभी तक केंद्र सरकार द्वारा 40 लाख से ऊपर स्वयं सहायता समूह के सदस्यों को इस योजना के तहत लाभ पहुंचाया जा चुका है। ज्यादा जानकारी के लिए आप https://aajeevika.gov.in पर जा सकते हैं।

Related Content